न्यूजीलैंड बना पहला टेस्ट चैंपियनशिप का विजेता, ICC ने की पैसों की बारिश

आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप को उसका पहला विजेता मिल गया है। न्यूजीलैंड की टीम ने टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल मैच में भारतीय टीम को 8 विकेट से करारी शिकस्त देकर पराजित किया। न्यूजीलैंड की टीम को इस खिताब तक पहुंचानें में कप्तान केन विलियमसन का सबसे बड़ा योगदान रहा है। उनकी कप्तानी और सूझ बूझ से भरे फैसलों ने ही न्यूजीलैंड की टीम को पहला टेस्ट चैंपियन बनाया। चैंपियन बनने के साथ ही आईसीसी ने न्यूजीलैंड पर पैसों की बारिश कर दी है। न्यूजीलैंड टीम को टेस्ट चैंपियनशिप जीतने पर 12 करोड़ रूपए का ईनाम मिला है। इतन ही नहीं फाइनल में हार झेलनी वाली भारतीय टीम पर भी पैसों की बारिश हुई है।

आईसीसी ने टेस्ट चैंपियन न्यूजीलैंड को 16 लाख अमेरिकी डॉलर दिए हैं जिसकी कीमत भारतीय रूपयों में 12 करोड़ तक पहुंचती है। वहीं फाइनल मैच में बुरी तरह से हारने वाली कप्तान कोहली की टीम को भी आईसीसी ने अच्छी रकम दी है। आईसीसी ने भारतीय टीम को 8 लाख अमेरिकी डॉलर दिए हैं। यह रकम भारतीय रूपयों में लगभग 6 करोड़ होती है। इतना ही नहीं आईसीसी ने टॉप चार में जगह बनाने वाली टीमों को भी ईनामी राशि दी है।

आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप की दौड़ में ऑस्ट्रेलिया की टीम तीसरे स्थान पर रही थी। वहीं इंग्लैंड की टीम चौथे स्थान पर रही थी। दोनों ही टीमें टेस्ट चैंपियनशिप की सबसे बड़ी दावेदार थी। क्योंकि दोनों टीमें टेस्ट क्रिकेट को अधिक महत्व देती हैं और ज्यादा मैच भी खेलती हैं। लेकिन हैरानी वाली बात यह है कि आईसीसी के पहले टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में यह दोनों ही टीमें नहीं पहुंच पाई। इससे क्रिकेट के फैंस को हैरानी भी हुई।

गौर हो कि आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मैच इंग्लैंड के साउथैम्प्टन मैदान में खेला गया। बारिश की वजह से खेल का पहला और चौथा दिन धुल गया जिस कारण मैच छठे दिन जो कि रिजर्व डे रखा गया था वहां पर पहुंचा। भारतीय टीम पहली पारी में 217 रन पर ऑलआउट हो गई। जबकि न्यूजीलैंड की टीम ने 249 रन बनाकर भारतीय टीम पर 32 रन की बढ़त बना ली। वहीं दूसरी पारी में भारतीय बल्लेबाज क्रीज पर टिक भी नहीं पाए और 170 रन पर ही पूरी टीम सिमट गई। जवाब में न्यूजीलैंड की टीम को 139 रन का लक्ष्य मिला जिसे कप्तान केन विलियमसन ने रॉस टेलर के साथ साझेदारी कर हासिल कर लिया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *