नीदरलैंड की राजकुमारी ने इस कारण ठुकरा दिए 14 करोड़, कहा- क्यों लूं, जानें पूरी खबर

बताओ आज के समय में रूपयों और पैसों से किसे प्यार नहीं है। कलयुग के इस समय में जहां पैसों के लिए लोग कुछ भी कर गुजरने को तैयार हैं तो वहीं नीदरलैंड की एक राजकुमारी हैं जिन्होंने 14 करोड़ के सलाने भत्ते को लेने से इंकार कर दिया। भला इतनी बड़ी रकम को कोई इतनी आसानी से कैसे इंकार कर सकता लेकिन वह ठहरी महलों की रहने वाली तो उसने इंकार कर दिया।

जी हां, डच सिंहासन की उत्तराधिकारी और नीदरलैंड जिसे हॉलैंड भी कहते हैं उसकी राजकुमारी ऐमालिया ने शाही भत्ते को लेने से इंकार कर दिया। इंकार करने के बाद ऐमालिया ने एक बयान भी दिया। इस बयान के मुताबकि ऐमालिया ने कहा कि वह अभी बालिग नहीं हुई हैं औप 7 दिसंबर को वह बालिग हो जाएंगी और नीदरलैंड के कानून के मुताबिक उन्हें 14 करोड़ के सलाना भत्ता मिलेगा। लेकिन वह इस सरकारी भत्ते को तब नहीं लेंगी जब वह कोई काम नहीं करती। इसकी जानकारी उन्होंने बकायदा पत्र लिखकर प्रधानमंत्री मार्क रूट को दी है।

अरे भाई क्यों ले, वह सरकारी भत्ता। भारत थोड़े ही है जहां अगर चाचा विधायक होते हैं तो पूरे लाभ भतीजा उठा लेता है। लेकिन ऐमालिया का यह कदम बेहद ही सराहनीय है। क्योंकि अभी वह बालिग नही हुई है और उसने अपनी सोच से बता दिया है क्यों उनका देश तरक्की कर रहा है। जब वह काम करेंगी तो उस हिसाब से भत्ता भी ले लेंगी अगर नही लेती तो कोई बात नहीं है।

ऐमालिया ने कहा कि कोरोना का समय छात्रों के लिए बहुत कठिन हो रहा है। इसलिए वह कॉलेज की पढ़ाई करने से पहले राज घराने द्वारा मिली इस विरासत को छोड़ने का फैसला का करती है। लोग अभी से ही ऐमालिया की तारीफ करने में जुट गए हैं। ऐमालिया नीदरलैंड के राजघराने के राजा एल्केजेंडर की सबसे बड़ी बेटी हैं। हाल ही में उन्होंने अपना हाईस्कूल खत्म किया है। डच मीडिया के मुताबिक उन्हें आय के तौर पर 11 करोड़ और खर्च के लिए 2.6 करोड़ खर्चन करने के लिए मिलते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *